Swami Vivekanand Quotes In Hindi ( स्वामी विवेकानंद के अनमोल विचार )

स्वामी विवेकानंद के अनमोल विचार

hindicage image

Swami Vivekanand Quotes In Hindi ( स्वामी विवेकानंद के अनमोल विचार )


1.  उठो जागो और तब तक नही रुको जब तक लक्ष्य ना प्राप्त हो।
2. उठो मेरे शेरो , इस भ्रम को मिटा दो की तुम निर्बल हो , तुम एक अमर आत्मा हो , स्वछन्द जीव हो , धन्य हो , सनातन हो , तुम तत्व नही हो , न ही शरीर हो , तत्व तुम्हारा सेवक है तुम तत्त्व के सेवक नही हो ।

सफलता पाने के लिए यह वीडियो जरूर देखिये ।


यह भी पढिये : सांप के साथ सोई महिला , छिपकली को दिया जन्म 

यह भी पढिये : यहां माँ के सामने लड़की को मनानी पड़ती है फर्स्ट नाईट 

3. श्री रामकृष्ण कहा करते थे , जब तक मैं जीवित हु , तब तक मैं सीखता हु । वह व्यक्ति या वह समाज जिसके पास सिखने को कुछ नही है वह पहले से ही मौत के जबड़े में है ।
4. धन्य है वो लोग जिनके शरीर दुसरो की सेवा करने में नष्ट हो जाते है।
5. खुद को कमजोर समझना सबसे बड़ा पाप है ।

यह भी पढिये : किस करने के बेहतरीन तरीके

6. जब लोग तुम्हे गाली दे तो तुम उन्हें आशीर्वाद दो , सोच तुम्हारे झूठे दंम्भ को बाहर निकालकर वो तुम्हारी कितनी मदद कर रहे है।
7. कुछ सच्चे ईमानदार और ऊर्जावान पुरुष और महिलाएं , जितना कोई भीड़ एक सदी में कर सकती है उससे अधिक एक वर्ष में कर सकते है ।
8. यह भगवान् से प्रेम का बंधन वास्तव में ऐसा है जो आत्मा को बांधता नही है बल्कि प्रभावी ढंग से उसके सारे बंधन तोड़ देता है।
9. मस्तिष्क की शक्तियां सूर्य की किरणों के समान है , जब वो केंद्रित होती है , चमक उठती है ।
10. मनुष्य की सेवा करो , भगवान की सेवा करो ।

यह भी पढिये : इंटरव्यू में पूछे जाते है ऐसे अजीब सवाल , पढ़कर होश उड़ जाएंगे आपके 

11. जो तुम सोचते हो वो हो जाओगे . यदि तुम खुद को कमजोर सोचते हो , तुम कमजोर हो जाओगे , अगर खुद को ताकत वर सोचते हो , तुम ताकत वर हो जाओगे ।
12. कुछ मत पूछो , बदले में कुछ मत मांगो, जो देता है वो दो , वो तुम तक वापस आएगा। पर उसके बारे में अभी मत सोचो ।
13. एक समय में एक काम करो , और ऐसा करते समय अपनी पूरी आत्मा उसमे डाल दो और बाकि सबकुछ भूल जाओ ।
14. शारीरिक , बौद्धिक और आध्यात्मिक रूप से जो कुछ भी कमजोर बनता है , उसे जहर की तरह त्याग दो ।
15. ना खोजो न बचो , जो आता है ले लो ।

यह भी पढिये : कभी साइकिल रिपेयर करता था , आज खड़ी की 2200 करोड़ की कंपनी
16. शक्ति जीवन है , निर्बलता मृत्यु है , विस्तार जीवन है , संकुचन मृत्यु है , प्रेम जीवन है , द्वेष मृत्यु है ।
17. बस वही जीते है , जो दुसरे के लिए जीते है ।
18. सबसे बड़ा धर्म है अपने स्वाभाव के प्रति सच्चे होना , स्वयं पर विश्वास करो ।
19. जो अग्नि हमे गर्मी देती है , हमे नष्ट भी कर सकती है , यह अग्नि का दोष नही है ।
20. किसी चीज से डरो मत , तुम अद्बुत काम करोगे , यह निर्भयता ही है जो क्षण भर में परम आनंद लाती है ।
21. किसी दिन जब आपके मार्ग में कोई समस्या ना आये , आप सुनिश्चित हो सकते है कि आप गलत मार्ग पर चल रहे है ।
22. दिल और दिमाग के टकराव में दिल की सुनो ।
Previous
Next Post »
Thanks for your comment